CSS क्या है | What is CSS in Hindi [पूरी जानकारी हिंदी में]

क्या अपने CSS के बारे में पहले सुना है ? क्या आप जानते है की CSS का इस्तेमाल क्यों किया जाता है?

अगर आपका जवाब न है तो चिंता की कोई बात नही क्योंकि आज में आपको CSS की पूरी जानकारी देने वाला हूँ और आपको बताऊंगा की CSS क्या है ? CSS क्यों इस्तेमाल होता है ? CSS के फायदे इत्यादि|

तो दोस्त अगर अपने HTML के बारे में सुना है तो अपने CSS का भी नाम जरुर ही सुना होगा |

CSS क्या है? [पूरी जानकारी हिंदी में]

CSS एक simple design language जिसका मकसद website को सुन्दर बनाने का है, यह website को presentable बनाता है |

CSS का full form क्या है ? – Full form of CSS in Hindi

CSS का full form होता है – Cascading Style Sheets. इसका इस्तेमाल website के style को सुन्दर और अच्छा बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है|

चलिए अब CSS के बारे में पूरी जानकारी जानते है |

CSS क्या है ? – What is CSS in Hindi

Cascading Style sheets, एक stylesheet language है जिसके इस्तेमाल से उन documents को presentable बनाया जाता है जो documents किसी markup language में लिखे हुए होते है , जैसे की HTML. CSS web technologies का तीनों में से एक सबसे important हिस्सा है , जिनमे बाकी दो है, HTML और JavaScript. इन तीनों language के ही मदद से सारे website काम करते है|

Website का content और उसके presentation के बीच अंतर बनाने के लिए CSS को बनाया गया था, जैसे की fonts, colors और layout. इस अंतर के वजह से website के content को देखने और पढने लायक और भी सुन्दर और presentable बनाया जाता है | 

CSS की मदद से website के text के color, font style, paragraph के बीच के gapping, column size, background image, background color, layout design, हर screen size के लिए display size इत्यादि जैसे कई effects का इस्तेमाल किया जा सकता है |

CSS को सीखना और समझना बहुत ही आसान है परन्तु यह हमें किसी भी HTML document के presentation को control करने के लिए बहुत ताक़तवर है | CSS को हमेशा Markup language के साथ ही इस्तेमाल किया जाता है, जैसे की HTML और XML.

CSS के features – Features of CSS in Hindi

तो चलिए अब जानते है की CSS के कौन से features है जो इसे बहुत ही ताक़तवर बनाते है |

  • Styles : CSS के इस्तेमाल से HTML में बने webpage को बहुत ही ज्यादा आकर्षक बनाया जा सकता है, क्योंकि CSS के पास बहुत सरे style attributes है |
  • Device compatibility : CSS के इस्तेमाल से हम एक से अधिक devices के आधार पर भी पेज को style कर सकते है | उस same HTML document को हम अलग अलग device के size के आधार पर optimize कर सकते है |
  • Global Web Standard : CSS का इस्तेमाल common और जरूरी हो गया है किसी भी website को बनाने के लिए और सभी इसका इस्तेमाल करता है , पूरी दुनिया ही HTML के साथ CSS का इस्तेमाल करती है |

CSS को को कौन बनाता और सम्भालता है ?

CSS को W3C में काम कर रहे लोगों के समूह बनाते और संभालते है, जिन्हें CSS Working group कहा जाता है | CSS working group documents बनाती है जिसे Specification कहा जाता है |

जब W3C के member इस specification को मान्यता दे देती है तो यह recommendation या सुझाव बन जाता है |

W3C खुद सरे web technologies और लैंग्वेजेज पे काम नही करती, और यह काम दूसरे लोग या दूसरी कंपनियाँ करती है, परन्तु W3C के लोग इसे देखते कर बताते है तो फिर वो दुनिया के लिए एक recommedation बन जाता है | 

NOTE : W3C या World Wide Web Consortium, लोगो का एक समूह है जो recommendations बना के बताती है की internet कैसे काम करेगा |

Also Read:

CSS को किसने बनाया ? – A Brief History of CSS in Hindi

CSS का प्रस्ताव, Håkon Wium Lie ने १० अक्टूबर, १९९४ को दिया था | उस समय Håkon Wium Lie, Tim Berners Lee के साथ CERN पर काम करते थे | जितने भी अलग अलग style sheet language ने भी अपना प्रस्ताव उसे समय दिया था, और मीटिंग के बाद W3C ने CSS को recommend किया था, और CSS1 , 1996 में रिलीज़ हुआ था |

उसी में Bart Bos का भी प्रस्ताव बहुत अच्छा था तो उसे CSS1 का co-creator बना दिया गया था |

CSS के versions – Versions of CSS

CSS के officially सिर्फ ३ version release हुए है –

  • CSS 1
  • CSS 2
  • CSS 3 

CSS के Advantage – Advantages of CSS in Hindi

  • CSS समय बचाता है : CSS के script को एक बार लिख कर कई अलग अलग HTML website में भी इस्तेमाल किया जा सकता है |
  • Pages जल्दी load होते है : HTML के अलग अलग tags के अलग अलग एट्रिब्यूट लिखने के बजाए हम एक ही बार CSS script लिख कर उसे कई component के लिए इस्तेमाल कर सकते है , जिसकी वजह से कम code में ज्यादा काम होता है | कम code मतलब कम loading समय लगना |
  • Maintain करना आसान है : CSS script के इस्तेमाल से website को maintain करना आसान हो जाता है , अगर style change करना है तो पुराने style script के जगह नया लिख कर HTML का style change किया जा सकता है जो जिसके वजह से website आसानी से maintain किया जा सकता है |
  • ज्यादा styling : HTML के मुकाबले , CSS में बहुत सारे style attributes मौजूद है |
  • Device compatibility : CSS के इस्तेमाल से हम एक से अधिक devices के आधार पर भी पेज को style कर सकते है | उस same HTML document को हम अलग अलग device के size के आधार पर optimize कर सकते है |

FAQ – आपके सवाल हमारे जवाब

Que. CSS सीखने से पहले क्या आना चाहिए ?

Ans. CSS सीखने से पहले आपका HTML आना अवश्यक होता है |

Que. CSS सीखने में कितना समय लगता है ?

Ans. CSS सीखने में २ सप्ताह लगता है | HTML और CSS को हमेशा साथ ही सिखा जाता है और इंडो को सीखने में २-३ सप्ताह लगता है और practice कर के अच्छा करने में १-२ महीने लग सकते है | 

Que. CSS और HTML दोनों में से पहले क्या सीखें?

Ans. CSS से पहले आपको HTML सीखना जरूरी है | HTML में webpage बनाने के बाद CSS से उसे style किया जाता है |

Que. क्या CSS सीखना मुश्किल है ?

Ans. जी बिलकुल भी नहीं , CSS को सीखना बहुत ही आसान है और आप इसे १ सप्ताह में सीख सकते है | 

Que. क्या CSS सीखना ज़रूरी है ?

Ans. CSS सीखना बहुत ही जरूरी है अगर आप web development करना चाहते है |

Que. क्या CSS सीखना के लिए course खरीदना जरुरी  है ?

Ans. बिलकुल भी नहीं , CSS सीखने के लिए आपको course या कोई classes खरीद के join  करने की बिलकुल भी जरुरत नही है , आप HTML, CSS, Youtube और internet से बिलकुल ही free और बहुत अच्छे से सीख सकते है |

Conclusion

तो दोस्त आज की पोस्ट में अपने जाना की CSS क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों होता है , आपने यह भी जाना की CSS किस तरह काम करता है | अपने यह भी जाना की CSS को website की styling करने के लिए इस्तेमाल किया जाता और इसका इस्तेमाल HTML के साथ होता है |

मैं आशा करता हूँ की मेरे बताए गये पोस्ट से आपको CSS की पूरी जानकारी हो गई होगी |

अगर आपको CSS के बारे में कुछ और जानना हो या बताना हो तो हमे बे झिझक comments करे, हमे आपकी सहायता कर और आपसे कुछ नया सीख बेहद ख़ुशी होगी |

मैं मिलता हूँ आपसे एक नये पोस्ट के साथ जो बनाएगा आपके coding Journey को और भी आसान तब तक के लिए जहाँ भी रहे कुछ नया सीखते रहे और coding करते रहे |

ज्ञान की उचाईयों को पाए !!

हिंदी Topia 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!