Blogger में Custom Domain कैसे Add करे ?

Blogger में Custom Domain कैसे Add करे ? दोस्तों, यदि आप भी एक ब्लॉगर है और आपका ब्लॉग ब्लॉगर प्लेटफार्म पर है , तो ऐसे में आपके लिए ये जानना की अपने ब्लॉगर ब्लॉग में कस्टम डोमेन कैसे ऐड करें बहुत ही आवश्यक हो जाता है । 

आज के इस आर्टिकल में हम आपको Step by Step बताने वाले है कि आप किस तरह से अपने ब्लॉगर ब्लॉग में Custom Domain Add कर सकते है और आपको Custom Domain का इस्तेमाल क्यों करना चाहिये । 

तो चलिये दोस्तो बिना कोई समय बर्बाद कर चलिये जानते है कि Blogger ब्लॉग में Custom Domain कैसे Add करे ।

Blogger में Custom Domain कैसे Add करे ?

Blogger में Custom Domain का इस्तेमाल क्यों करना चाहिए ?

दोस्तों, जैसे की आप सभी जानते ही होंगे की Blogger एक फ्री ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म है जो की आपको फ्री में होस्टिंग और Subdomain प्रदान करता है |

अब आप सोच रहे होंगे की जब आपको फ्री में सब कुछ मिल ही जाता है, तो फिर पैसे लगाने की क्या जरूरत | और यकीन मानिये दोस्तों बोहोत सारे ब्लॉगर की यही सबसे बड़ी गलती होती है |

जब आप ब्लॉगर का इस्तेमाल करते है तो ब्लॉगर आपको एक फ्री Subdomain देता है जो की कुछ इस प्रकार का होता है hinditopia.blogspot.com वही कस्टम डोमेन hinditopia.com दिखने में ऐसा होता है |

Free Subdomain की सबसे बड़ी दिक्कत यही होती है की आप उसको किसी और प्लेटफार्म पर माइग्रेट नहीं कर सकते | उदहारण के लिए जब एक समय बाद आपका ब्लॉग बड़ा हो जायेगा और आप उसको WordPress पर शिफ्ट करना ही होगा, तो ऐसे में आप उस Subdomain का इस्तेमाल नही कर पाएंगे |

आपको दुबारा फिर शुरू से स्टार्ट करना होगा, नये डोमेन की Authority बनानी होगी जिससे की उसकी रैंकिंग बढ़े इत्यादि | इसके साथ ही आपको फिर से नये Custom Domain पर AdSense Approval लेनी पड़ेगी |

इन्ही सब मुश्किलों से बचने के लिए आपको शुरुवात से ही अपने ब्लॉग में कस्टम डोमेन का इस्तेमाल करना चाहिए यदि आप ब्लॉग्गिंग को लेकर थोड़े से भी सीरियस है तो |

तो चलिए दोस्तों, अब हम जानते है की एक कस्टम डोमेन नाम के क्या-क्या फायदे होते है |

ब्लॉगर में कस्टम डोमेन नाम इस्तेमाल करने के फायदे

ब्लॉगर में कस्टम डोमेन इस्तेमाल करने के ढेरों सारे फायदे है जो की आपको फ्री Subdomain में कभी भी नही मिल सकता | उनमें से कुछ फायदे कुछ इस प्रकार है :- 

1. Full Control

जब आप एक कस्टम डोमेन नाम का इस्तेमाल करते है, तो सारा कण्ट्रोल आपके हाथ में होता है | आप चाहे तो उसे किसी भी प्लेटफार्म पर इस्तेमाल कर सकते है जैसे की – Blogger, WordPress, Wix या फिर Self-Host इत्यादि |

गूगल कब अपना ब्लॉग्गिंग प्लेटफार्म Blogger बन कर दे इसकी कोई गारंटी नहीं, ऐसे में अगर आपके पास कस्टम डोमेन नहीं होगा, तो आपकी सालों की मेहनत कुछ ही मिनटों में खत्म हो जाएगी |

Google ने हाल ही में Google+, feedburner, Picasa इत्यादि जैसे Services अचानक से बंद कर दिए जब इन Services का इस्तेमाल लाखों लोग कर रहे थे |

इसलिए आपके पास एक कस्टम डोमेन नाम होना ही चाहिए |

2. Professional Look

इसको मैं एक उदहारण के जरिये समझाना चाहूँगा, मान लीजिये की आपने गूगल पर कुछ सर्च किया और सर्च रिजल्ट में २ वेबसाइट आये | पहला hinditopia.blogspot.com और दूसरा hinditopia.com, आप किस वेबसाइट पर जाना चाहेंगे |

मुझे आपका तो नहीं पता पर बोहोत सारे लोग दुसरे आप्शन यानि की hinditopia.com को ही चुनेगे क्युकी हमारा दिमाग इसी तरह से काम करता की हम आसान चीजों की और जाते है |

छोटा डोमेन नाम आपके ब्लॉग को एक Professional और Premium फील देता है जिससे की आपके ब्लॉग की Branding भी हो जाती है |

साथ ही डोमेन नाम छोटा होने की वजह से Users इसे आसानी से याद रख पाते है |

3. AdSense Approval

दोस्तों, अगर में AdSense Approval की बात करू तो आपको Subdomain और Custom Domain दोनों पर ही AdSense Approval मिल सकता है |

पहले के समय में फ्री Subdomain पर अप्रूवल लेने के लिए आपका ब्लॉग 6 महीने पुराना होना चाहिए था, पर अब ऐसा कोई नियम नहीं है | 

पर अगर कस्टम डोमेन का इस्तेमाल करेंगे तो आपको अप्रूवल भी जल्द ही मिल जायेगा तथा अप्रूवल मिलने के चांसेस भी बढ़ जायेंगे |

अगर आप अपने ब्लॉग में AdSense Approval लेना चाहते है तो आप हमारा ये 24 घंटो में Adsense Approval कैसे ले वाला पोस्ट पढ़ना न भूलें |

4. Search Ranking

यहाँ पर मैं आपको बता देना चाहूंगा की Subdomain आपके रैंकिंग को Directly Effect नही करता, पर Indirectly बहुत ज्यादा करता है |

आपके ब्लॉग की रैंकिंग डोमेन पर निर्भर नहीं करती, सिर्फ और सिर्फ कंटेंट पर करती है | अगर आप कंटेंट अच्छा है तो आपका फ्री Subdomain भी Custom Domains को Defeat कर देता रैंकिंग के मामले में |

पर असली दिक्कत ये होती है की Users फ्री Subdomain को देखकर आपको नौसिखिया समझने लगते है और आपको सीरियसली नहीं लेते, ऐसे में आपका ब्लॉग रैंक होने के बावजूद भी ट्रैफिक Gain नहीं कर पाता |

5. कुछ अन्य फायदे

  • आपके साईट/ ब्लॉग की विस्वनियता बढ़ती है |
  • आप ब्लॉग एक Brand बन जाता है |
  • ये आपके Users को लम्बे समय तक याद रह पायेगा |
  • Google AdSense Approval लेना भी आसान हो जाता है |
  • ये आपके SEO में भी काफी मदद करता है |

तो चलिए दोस्तों, अब हम जानते है की आप किस तरह से ब्लॉगर में कस्टम डोमेन को ऐड कर सकते है |

Blogger में Custom Domain कैसे Add करे ?

ब्लॉगर में कस्टम डोमेन ऐड करना काफी ही आसन प्रोसेस है, और ऐसा करने में आपको केवल 5 से 10 मिनट ही लगेंगे | इसके लिए आपके पास एक Custom Domain Name होना आवश्यक है, जिसे आप किसी भी Registrar से खरीद सकते है |

मैं यहाँ पर आपको Godaddy और NameCheap Recommend करने वाला क्योंकि ये दोनों सबसे बेस्ट Registrar है, और मैं खुद भी अपने अनेक वेबसाइट के लिए इन्ही का प्रयोग करता हूँ |

मैं यहाँ पर आपको GoDaddy से कस्टम डोमेन ऐड कर बताऊंगा पर, आप इसी मेथड का इस्तेमाल किसी भी प्लेटफार्म पर कर सकते है, क्योकि सब का स्टेप्स लगभग एक जैसा ही है |

Total Time: 5 minutes

Step 1. सबसे पहले अगर आपने डोमेन नहीं खरीदा है, तो आपको एक डोमेन खरीदने की जरूरत है | आप डोमेन GoDaddy या NameCheap से खरीद सकते है |

Step 2. अब आपको अपने ब्लॉगर अकाउंट में अपने गूगल अकाउंट से login कर लेना है और Settings में जाकर Basic में जाना है |

Step 3. यहाँ पर आपको Publishing Section में जाना है और Custom Domain पर Click करना है |

Step 4. अब आपको इसमें अपने कस्टम डोमेन नाम को डालना है और Save Button पर क्लिक करना है | यहाँ पर ध्यान दे की आप अपने डोमेन का फुल एड्रेस www के साथ डाले

Step 5. Save बटन पर क्लिक करते ही आपको कुछ error मेसेज शो होगा | इसमें घबराने की कोई बात नहीं है, ये हर किसी के साथ ही होता है | अब बस DNS Settings file में जाकर कुछ Codes को Copy Paste करना है |

Step 6. अब आपको अपने GoDaddy अकाउंट में login करना है और Manage Domain पर क्लिक करना है |

Step 7. अब आपको नीचे की तरफ जाकर Manage DNS पर क्लिक करना है | DNS Management पेज में आपको ADD का लिंक दिखेगा उसे Click करे |

Step 8. अब आपको ब्लॉगर में दिए गये CNAME को इसमें Paste करना होगा | इसमें आपको 2 Records ऐड करना है | पहला रिकॉर्ड कुछ इस प्रकार दिखेगा Type = CNAME, Host = www, Points To = ghs.google.com, TTL = 1 Hour |

Step 9. ठीक इसी प्रकार आपको दूसरा रिकॉर्ड भी ऐड कर लेना है, ये सब करने के बाद आपको कुछ ऐसा देखने को मिलेगा |

Step 10. अब आप ब्लॉगर और आए और Save Button पर Click करे, इतना करने के बाद आपको Redirect domain का Option दिखेगा, उसे Enable कर दे |

अब आपका कस्टम डोमेन नाम आपके ब्लॉगर अकाउंट के जुड़ चूका है, अब आप जब भी गूगल में अपना कस्टम डोमेन नाम डालेंगे तो आपका ब्लॉग खुल जायेगा |  

FAQ – आपके सवाल हमारे जवाब 

क्या डोमेन से Ranking पर फ़र्क पड़ता है ?

नही, Ranking सिर्फ आपके कंटेंट से इफ़ेक्ट होता है, डोमेन का रैंकिंग से कोई लेना देना नहीं |

Domain खरीदने के लिए बेस्ट प्लेटफार्म कौन सा है ?

Domain Name खरीदने के लिए बेस्ट प्लेटफार्म GoDaddy और NameCheap है |

Domain कितने पैसो में मिलता है ?

एक डोमेन की कीमत तकरीबन 200 रुपए से लेकर 1000 प्रति वर्ष होती है |

क्या Custom Domain पर जल्दी AdSense Approval मिल जाता है ?

हां, Custom Domain का इस्तेमाल करने पर आपको 1 Week के अन्दर AdSense Approval मिल जाता है |

आपने क्या सिखा

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है की आज की पोस्ट को पढने के बाद आपको अपने ब्लॉग में कस्टम डोमेन कैसे ऐड करे से संबंधित सारी जानकारी मिल गयी होगी |

अगर आपको किसी भी स्टेप में कोई परेशानी हो या आप कुछ और ऐड करना चाहते हो तो हमे कमेंट करे, हमे आपकी सहायता कर काफी ख़ुशी मिलेगी |

अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने ब्लॉगर दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें ताकि उनकी भी मदद हो सके और वे भी एक सफल ब्लॉगर बन पाए |

मैं मिलता हूँ आप सभी से एक ऐसे ही ज्ञानवर्धक आर्टिकल के साथ जो बनाए आपके ब्लॉग्गिंग के सफ़र को और भी आसान | तब तक के लिए जहाँ भी रहे कुछ नया और अनोखा सीखते रहे |

इन्हें भी जरुर पढ़े :-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!